Sat February 16, 2019
ताजा समाचार

Clippings Detail

5 राज्यों से होकर गुजरेगा देश का सबसे लंबा सिंग्नल Free एक्सप्रेसवे मार्च से काम शुरू:

घटेगी महानगरों के बीच की दूरी

नई दिल्ली। दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस के निर्माण का काम इसी साल मार्च से शुरू हो जाएगा। NHAI ने इस एक्सप्रेस की घोषणा के एक महज एक साल की भीतर ही इसके निर्माण की तैयारी पूरी कर ली है। यह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ड्रीम प्रोजेक्ट्स में से एक है। एनएचएआई को तीन साल के भीतर इस सिग्नल फ्री एक्सप्रेस के निर्माण का काम पूरा करना है। दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस के बनने के बाद मुंबई से दिल्ली के बीच का सफर मात्र 12 घंटों में पूरी होगा। फिलहाल सड़क के रास्ते से मुंबई जाने में 24 घंटे का वक्त लगता है, लेकिन जल्दी ही यह सफर आप सिर्फ आधा हो जाएगा। इसके लिए 60,000 करोड़ रुपए की लागत में बन रही इस एक्सप्रेसवे को तीन साल में तैयार किया जाना है।

यह एक्सप्रेसवे हरियाणा के मेवात और गुजरात के दाहोद जिला से होकर गुजरेगा।

सिंग्नल फ्री होगा एक्सप्रेसवे

1260 किमी लंबे इस एक्सप्रेस के निर्माण के बाद दिल्ली से मुंबई की दूरी महज 12 घंटे 25 मिनट की हो जाएगी। एक्सप्रेस वे के काम को 34 स्ट्रैचेज में बांटा गया है। ये पूरी तरह से सिंग्नल फ्री होगा और इंट्री-एग्जिट पर टोल प्लाजा होंगे। ये देश का सबसे लंबा एक्सप्रेस होने वाला है जो देश के पांच राज्यों से होकर गुजरेगा।

महानगरों की दूरी घटेगी

इस एक्सप्रेसवे के बनने से दिल्ली से मुंबई के बीच की दूरी 1,450 किलोमीटर से घटकर 1,250 किमी हो जाएगी। यही नहीं सफर भी 24 घंटे से कम होकर महज 12 घंटे का ही रह जाएगा। यह एक्सप्रेसवे गुरुग्राम के राजीव चौक से शुरू होगा। 1,250 किलोमीटर लंबा यह एक्सप्रेसवे गुरुग्राम के सोहना से होकर गुजरेगा। चूंकि ये प्रोजेक्ट पूरी तरह से सरकारी फंड पर निर्भर है इसलिए जल्द ही इसका काम शुरु कर दिया जाएगा।

जमीन अधिग्रहण का काम पूरा

एनएचएआई ने इसके लिए 12000 हेक्टेयर भूमि का अधिग्रेहण किया है और प्रोफेशनल्स हायर किए हैं, जो तीन साल के भीतर इस प्रोजेक्ट को पूरा करेंगे। ये एक्सप्रेस अधिकार बिना उपजाऊ इलाके से गुजर रहा है, जिसकी वजह से भूमि अधिग्रहण में बहुत दिक्कत नहीं हुई। हरियाणा में इस प्रॉजेक्ट के लिए जमीन अधिग्रहण का काम पूरा हो चुका है, बोली प्रक्रिया भी तेजी से चल रही है। हरियाणा में इस एक्सप्रेसवे का 80 किलोमीटर लंबा हिस्सा पड़ता है, जिसके लिए अधिग्रहण का काम पूरा हो चुका है।

All Clippings